राजस्थान भौगोलिक स्थिति Rajasthan geography Gk


Sunday, May 2, 2021

 मानचित्र में राजस्थान की स्थिति:-


विश्व या ग्लोब में राजस्थान की स्थिति – उत्तर-पूर्व  दिशा (ईशान कोण)

एशिया महाद्वीप में राजस्थान की स्थिति – दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य कोण)

भारत में राजस्थान की स्थिति – उत्तर-पश्चिम (वायव्य कोण)

राजस्थान की आकृति:-राजस्थान की आकृति विषम चतुष्कोणीय (पतंगाकार) है। 

राजस्थान की आकृति के लिए विषम चतुष्कोणीय शब्द का प्रयोग अंग्रेज अधिकारी टी.एच. हेडले ने किया।

राजस्थान की कुल सीमा – 5,920 कि.मी. है।

स्थलीय सीमा:-वह सीमा जो स्थल भाग से लगती है, स्थलीय सीमा कहलाती  है।

राजस्थान की स्थलीय सीमा – 5,920 कि.मी. हैं।

तटीय सीमा:-वह सीमा जो सागर या महासागर से लगती है, तटीय सीमा कहलाती है।

राजस्थान की तटीय सीमा शून्य है अर्थात् राजस्थान किसी प्रकार की तटीय सीमा का निर्धारण नहीं करता है।राजस्थान की स्थलीय सीमा या कुल सीमा को दो भागों में विभाजित किया गया है।

अन्तर्राष्ट्रीय सीमा:-वह सीमा रेखा जो किसी देश के साथ लगती है, अन्तर्राष्ट्रीय सीमा कहलाती है।

राजस्थान की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा पाकिस्तान से लगती है।

राजस्थान की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा का प्रारंभ स्थल हिन्दूमलकोट (श्रीगंगानगर)

राजस्थान की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा का समाप्ति स्थल भलगाँव (शाहगढ़)/बाखासर तहसील (बाड़मेर) है।

राजस्थान के चार जिले पाकिस्तान के साथ अन्तर्राष्ट्रीय सीमा का निर्धारण करते हैं-

श्रीगंगानगर – (210 कि.मी.)

बीकानेर – (168 कि.मी.)

जैसलमेर – (464 कि.मी.)

बाड़मेर – (228 कि.मी.)

भारत-पाकिस्तान के मध्य अन्तर्राष्ट्रीय सीमा का निर्धारण 15 अगस्त, 1947 को तत्कालीन सीमा आयोग के अध्यक्ष ‘सर सिरिल रेडक्लिफ’ ने किया इस कारण इसे ‘रेडक्लिफ रेखा’ के नाम से जाना जाता है।